Resume Guide In Hindi & English

Resume क्या होता है, यह जानने से पहले हमें Resume, CV एवम Biodata इन तीनों के बीच के अंतर को समझना होगा जिससे कि हमें यह स्पष्ट हो जाए कि इनका वास्तविक मतलब क्या होता है।

RESUME MEANING

”A Short Descriptive Summary Of Your Academic & Work History”

Difference Between Resume, CV & Biodata:

RESUME

रिज्यूमे मुख्यतः हमारी शैक्षणिक (Educational) योग्यता एवम कार्य क्षमता (Skills) को संक्षेप में दर्शाती है।

यानि कि जब हम किसी नौकरी के लिए आवेदन करते हैं तो हमें वहां पर सबसे पहले अपना Resume सबमिट करना पड़ता है, जिसमें हमारी निम्न बातों का उल्लेख रहता है :

  • Personal Information
  • Academic Education
  • Extra Qualification
  • Work Experience
  • Extra Activities
  • Strength & Weakness

जब हम किसी नौकरी के लिए Apply करते हैं, तो HR यानि Recruiter हर किसी को सीधे तौर पर पर्सनल इंटरव्यू के लिए नहीं बुला सकती है।

क्योंकि इससे काफी समय की बर्बादी हो सकती है, अतः कंपनी Resume के आधार पर अपने नौकरी के लिए उपयुक्त उम्मीदवार का चयन (Shortlist) करती है और फिर उसे पर्सनल इंटरव्यू के लिए आग्रह करती है।

यानि की Resume में व्यक्ति की वह सभी जानकारी संक्षेप (Short) में लिखी होती है जिससे की यह पता चल सके कि उसके पास कौन – कौन – सी  क्याक्वालिफिकेशन एवम Qualities हैं और वह किस प्रकार के कार्य को कर पाने में सक्षम है।

CV (CURRICULUM-VITAE)

CV यानि Curriculum-Vitae लैटिन से लिया गया शब्द है जिसका अर्थ होता है, Course Of Life;

Resume जहाँ संक्षेप में मुख्यतः 1 पेज में लिखा होता है, वहीँ CV, रिज्यूमे की तुलना में अधिक Detail में लिखा जाता है।

CV मुख्यतः 2 या 3 पेज में लिखा जाता हैं जिसमें हमारी Complete Educational Qualification, Personal Information, Work Experience, Previous Job Details एवम Extra Curriculum के बारे में Detailed Information होती है।

इसके साथ – साथ CV में हम उन चुनोतियों या अनुभवों का भी जिक्र कर सकते हैं जिनका सामना हमने सफलतापूर्वक अपने कार्य को करते हुए किया है।

अगर हमारे अंदर कुछ अलग करने की क्षमता या सोच होती है तो उसके बारे में हम अपने  CV में जिक्र कर सकते हैं जोकि हमारे Recruiter का ध्यान आकर्षित कर सके

जो लीक से हट कर सोचते हैं उन्हें Recruiters अधिक प्राथमिकता देते हैं।

Resume एवम CV से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण Tips :

  1. Resume बनाते समय सरल शब्दों (भाषा) का इस्तेमाल करें।
  2. Resume में आप उन्हीं बातों का उल्लेख करें जिनके बारे में आप पूर्ण आश्वस्त हों।
  3. Resume में किसी तरह की कोई भी गलत जानकारी (Information) न दें।
  4. Resume में कठिन शब्दों का इस्तेमाल कम-से-कम करें।
  5. Resume को हमेशा Active Voice में लिखने की कोशिश करें।
  6. लम्बे पैराग्राफ की जगह छोटे पैराग्राफ का इस्तेमाल करें।
  7. कार्य अनुभव (Work Experience) को Bullet Text फॉर्मेट में लिखें।
  8. CV को A4 साइज़ के अधिकतम 2 पेपर में पूर्ण करने की कोशिश करें।
  9. CV के पहले पेज में Resume की भांति Short Profile को दर्शायें एवम भाषा को सरल रखें।
  10. CV में अपने पर्सनल Details यानि कि नाम, फ़ोन नंबर, ईमेल एड्रेस, पता एवम सोशल मीडिया एकाउंट्स की जानकारी जरुर दें।
  11. इसके साथ – साथ अपनी उपलब्धियों के विषय में भी जानकारी प्रकाशित अवश्य करें।

BIODATA

BIODATA का मतलब होता है – बायोग्राफिकल डाटा (BIOGRAPHICAL DATA)

BIODATA में मुख्यतः हमारी निजी जानकारियों (Personal Information) के विषय में लिखा जाता है।

उदाहरण के लिए – DOB, Gender (Sex), धर्म (Religion), Marital Status इत्यादि के बारे में उल्लेख किया जाता है।

USES

  • बायोडाटा का सबसे अधिक उपयोग विवाह से पूर्व एक – दुसरे की निजी जानकारियों को शेयर करने के लिए किया जाता है।
  • जब हम किसी सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करते हैं तो संभवतः हमसे बायोडाटा की माँग की जा सकती है, मगर प्राइवेट जॉब के लिए हमें सिर्फ RESUME की ही जरुरत पड़ती है।
  • जब हम किसी ग्लोबल जॉब के लिए आवेदन करते हैं तो वहां पर भी हमें प्रायः अपनी किसी भी तरह की Personal Information (धर्म, लिंग एवम आयु) को बताना आवश्यक नहीं होता है, अतः वहां पर भी हमें Biodata की आवश्यकता नहीं होती है।

रिज्यूमे का मतलब क्या है ?

वास्तव में RESUME लिखित रूप में हमारी पहचान है, जिससे Recruiter (HR) को Candidates से बिना किसी Interaction के उसकी योग्यता (Qualification), कार्यक्षमता (Skills) एवम वर्क एक्सपीरियंस के बारे में पता चल जाता है।

RESUME के आधार पर ही Recruiter (HR) यह निश्चय कर पाता है कि कौन – सा उम्मीदवार निर्धारित जॉब के लिए उपयुक्त है एवम उसे पर्सनल इंटरव्यू के लिए आमंत्रित कर सकता है।

रिज्यूमे कितने पेज का होना चाहिए ?

RESUME मुख्यतः 1या 2 पेज में ही लिखा जाना चाहिए जिसमें हमारी पर्सनल इनफार्मेशन एवम Academic Educational Details के साथ – साथ Previous Work Experience के बारे में पूर्ण जानकारी होनी चाहिए।

ऑनलाइन RESUME कैसे Send करें ?

जब हम किसी कंपनी में घोषित किये गए जॉब Vacancy के लिए इच्छुक होते हैं तो उसमे आवेदन करने के लिए हमें कंपनी या HR के E-mail ID पर अपना RESUME या CV को Microsoft Word याफिर PDF Format में Send करना होता है।

FAQs [Frequently Asked Questions On RESUME]

क्या हम रिज्यूमे को PDF में डाउनलोड कर सकते हैं

हाँ, बिल्कुल कर सकते हैं

क्या रिज्यूमे में Hobbies को शामिल करना चाहिए

हाँ, Hobbies को हमें अपने Resume में अवश्य शामिल करना चाहिए

क्या Resume और Biodata एक ही चीज़ है

नहीं, RESUME हमारी Qualification एवम Work Experience को बताता है, वहीँ BIODATA में हमारी Personal information की जानकारी होती है

क्या Resume और CV एक ही चीज़ है

RESUME में Short information होती है, वहीँ CV में Detailed information होती है

रिज्यूमे कितने पेज का होना चाहिए

RESUME कम-से-कम 1 पेज एवम अधिक से अधिक 2 पेजेज का होना चाहिए

क्या रिज्यूमे, बायोडाटा और CV एक ही चीज़े हैं

नहीं, RESUME में Short एवं CV में Detailed Academic & Previous Work Experience Information होती है, वहीँ BIODATA में हमारी पर्सनल इनफार्मेशन रहती है

क्या हमें रिज्यूमे में Career Objectives को लिखना चाहिए

हाँ, RESUME में हमें Career Objectives को हमें अवश्य शामिल करना चाहिए

Follow Me