SEO Techniques In Hindi, On-Page SEO, Off-Page SEO, Link Building | एसईओ तकनीक की पूरी जानकारी

SEO Techniques In Hindi, On-Page SEO, Off-Page SEO | White HAT SEO | Black HAT SEO | SEO Link Building

अगर आप नए ब्लॉगर हैं और इस ब्लॉग्गिंग के Field में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो फिर आपको भी प्रॉपर SEO Techniques के बारे में जानना बहुत जरुरी है, नहीं तो इसके बिना आपका ब्लॉग कभी रैंक ही नहीं करेगा।

और अगर आप गलती से ब्लैक हैट SEO को फॉलो कर बैठे तो फिर आप खुद अपने ब्लॉग का नुक्सान कर बैठेंगे क्योंकि गूगल ब्लैक HAT SEO करने पर Blog या Websites को Penalize कर देता है।

What is SEO Techniques in Hindi | एसईओ टेक्नोलॉजी क्या है?

हम ये अच्छी तरह से जान चुके हैं कि किसी वेबसाइट या ब्लॉग पर traffic बढ़ाने के लिए SEO को Follow करना कितना आवश्यक है, जिसके लिए हमें SEO के सारे Factors को फॉलो करना पड़ता है, लेकिन Search Engine Optimization को करने के लिए हमें Google के जिस Roadmap यानि Guidelines से  होकर चलना पड़ता है, वो रोडमैप या Path जिन Techniques से होकर जाती  है, उसे ही ‘SEO Techniques’ कहते हैं।

SEO तकनीक कितने प्रकार के होते हैं (Types of SEO Techniques In Hindi)

SEO तकनीक दो तरह के होते हैं, जिन्हे समझना भी अत्यंत आवश्यक है, इसे समझे बिना हम अपनी वेबसाइट की Traffic को नहीं बढ़ा पाएंगे और हमें ये समझ ही नहीं आ पायेगा की Problem कहाँ पर है।

SEO तकनीक दो टाइप के होते हैं –

White HAT SEO          &         Black HAT SEO

सभी बड़े Bloggers जो काफी समय से ब्लॉग्गिंग कर रहे हैं वो ‘White HAT SEO’ और ‘Black HAT SEO’ के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं, और वो सभी अपने ब्लॉग या Websites में गूगल के गाइडलाइन्स के अनुसार White HAT SEO तकनीक का इस्तेमाल सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के लिए करते हैं।

जिससे कि उनका ब्लॉग Top पेज पर रैंक करता है।

‘White HAT SEO’ क्या है और इसे करना क्यों आवश्यक है?

साधारण शब्दों में जो वेबसाइट या ब्लॉग सभी सर्च इंजन (जैसे – गूगल, Bing, Yahoo) के गाइडलाइन्स को फॉलो करती है, White HAT SEO तकनीक के अंतर्गत आती है।

SEO तकनीक को फॉलो करना या समझना बहुत कठिन काम नहीं है, कोई भी ब्लॉगर YouTube में उपलब्ध Videos को देखकर या फिर किसी SEO आधारित Best ब्लोग्स को पढ़कर समझ सकता है, और फिर उसे अपने ब्लोग्स पर Implement कर सकता है।

“कोई भी नया ब्लॉगर जब ब्लॉग्गिंग शुरू करता है तो वह या तो किसी Blogger से Inspire होता है या फिर Blogging से हुए Unlimited Income से प्रभावित होता है।“

अगर वो ब्लॉगर से Inspire होता है, और उसके Strategy को फॉलो करते हुए सही रास्ता चुनकर अपना ब्लॉग्गिंग करियर अपने इंट्रेस्टिंग Field के ऊपर शुरू करता है, और गूगल के Guidelines के अनुसार ही System को follow करता है.

यानि White HAT SEO को फॉलो करता है तो फिर उसे एक निश्चित अवधि के पश्चात उचित परिणाम मिलने शुरू हो जाते हैं।

उसका वेबसाइट या ब्लॉग रैंक होने लगता है और Google AdSense या फिर Affiliate Marketing से Earning भी Start हो जाती है।

सभी बड़े Bloggers या वेबसाइट के Honors सिर्फ गूगल के Guidelines से समर्थित ‘White HAT SEO’ तकनीक का ही इस्तेमाल अपने ब्लॉग या वेबसाइट के SEO करने के लिए करते हैं।

ये गूगल की नज़र में भी अच्छा होता है और इस गाइडलाइन्स को फॉलो करने पर गूगल आपके ब्लॉग का रैंक भी बढ़ाने लगता है, जिससे ब्लॉग पर आर्गेनिक ट्रैफिक में बृद्धि होने लगती है।

गूगल में रैंक करने के लिए हमें हमेशा White HAT SEO को फॉलो करके ही आगे बढ़ना है चाहे इसमें थोड़ा ज्यादा समय क्यों न लग जाये,

एक निश्चित समय के बाद या हो सकता है उससे पहले भी हमारा ब्लॉग रैंक हो जाए, अगर हम अपने ब्लॉग पर प्रॉपर Keywords का Use करें।

इसके लिए हमें Google एवम अन्य सभी Search Engine के नियमों के अनुसार ही अपने ब्लॉग या Websites के Post और Pages का Search Engine ऑप्टिमाइजेशन करना है।

इस तकनीक को अपनाकर हम भी अन्य Bloggers की भांति प्रसिद्ध और सफल हो सकते हैं।

How to use ‘White HAT SEO’ Technique | White HAT SEO तकनीक का इस्तेमाल कैसे करें?

‘White HAT SEO’ तकनीक का किसी ब्लॉग या वेबसाइट में इस्तेमाल करने के मुख्यतः 7 जरुरी Steps या Tips हैं जिसे फॉलो करके हम अपने ब्लॉग का Perfect SEO कर सकते हैं –

  • Website की Loading Speed को maintain रखना
  • Good Quality content Provide करना
  • Using Right Keywords 
  • Perfect Keyword Density रखना                                                               
  • Easy and Good Navigation
  • Title and Meta Description को Manage करना
  • Quality backlinking and link building

White HAT SEO के परिणाम | SEO Techniques In Hindi

अगर हमारा वेबसाइट या ब्लॉग सर्च इंजन के खोज परिणामों में रैंक नहीं करेगा तो हम एक Profitable Blog या Website (बिज़नेस) चलने की उम्मीद नहीं कर सकते।

अतः White HAT Techniques का अनुसरण करते हुए हमें अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का Search Engine Optimization करना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है, अगर हम भविष्य में अच्छा परिणाम चाहते हैं।

‘Black HAT SEO’ क्या है और इसे क्यों नहीं करना चाहिए?

“कोई भी New ब्लॉगर जब ब्लॉग्गिंग शुरू करता है तो वह या तो किसी Blogger से Inspire होता है या फिर Blogging से हुए Unlimited Income से प्रभावित होता है।“

वहीँ दूसरी और जहाँ ब्लॉगर ब्लॉग्गिंग के बजाय अनलिमिटेड Income को देखकर प्रभावित हो जाता है और जल्दी पैसे कमाने के चक्कर में गूगल के गाइडलाइन्स को Unfollow करते हुए या उसके Rules को तोड़ते हुए विपरीत काम करता है, और जल्दी रैंक भी करने लगता है, तो इसे ही Black HAT SEO कहते हैं।

Black HAT SEO या तो Bloggers के द्वारा अनजाने में हो सकती है या फिर जान बुझकर की जा सकती है।

अगर ये अनजाने में होती है तो फिर इसे बाद में सुधार कर हम ठीक कर सकते हैं, White HAT SEO के टिप्स को फॉलो करके।

लेकिन अगर हम इसे जान बुझकर करते हैं और लगातार करते जाते हैं, और अपने वेबसाइट को टॉप पेजेज पर रैंक करवा लेते हैं तो कुछ समय के बाद गूगल को जब इसका आभास होता है तो फिर गूगल हमारे वेबसाइट या ब्लॉग को हमेशा के लिए Penalize कर देता है, और फिर उसका रैंक करना मुश्किल हो जाता है।

अतः हमें अपने वेबसाइट या ब्लॉग का SEO सिर्फ White HAT SEO Technique के अनुसार ही करना चाहिए, और उन सभी Black HAT SEO के जो Techniques हैं उन्हें अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर SEO के लिए Apply करने से बचना चाहिए।

9 Risky Black Hat SEO Techniques | SEO Techniques In Hindi

  • Keyword Stuffing
  • Unrelated Meta Description
  • Duplicate (Copied) Content
  • Invisible Keyword or Text
  • Paid Links
  • Spam Comments
  • Article Spinning
  • Cloaking
  • Doorway Pages (Doorway and Gateway Post)

Black HAT SEO के परिणाम | SEO Techniques In Hindi

Black hat techniques का वेबसाइट या ब्लॉग में अभ्यास अंतिम रूप से काफी जोखिम भरा हो सकता है क्योंकि आमतौर पर इसे गूगल के टेक्नोलॉजी द्वारा जल्दी या बाद में Detect कर ही लिया जाता है। जिस कारण वेबसाइट को प्रतिबंधित या दण्डित किया जा सकता है।

Negative SEO करने के लिए किसी वेबसाइट को Penalize करना ऐसे तो आम बात है, इसमें गूगल द्वारा दंड के रूप में वेबसाइट के रैंक को काफी कम कर दिया जाता है।

फलस्वरूप वेबसाइट पर ट्रैफिक का आना काफी कम हो जाता है, इसका मतलब गूगल हमें एक चांस देता है कि हमें अपनी गलती को सुधारना चाहिए।

वहीँ दूसरी तरफ वेबसाइट का प्रतिबंधित होने का मतलब है, SERPs यानि Search Engine Result Page से वेबसाइट या ब्लॉग का अंतिम रूप से निष्कासन, इसके बाद आपका वेबसाइट गूगल पर नहीं दिखेगा।

यह मुख्यतः Blogger Platform पर हो सकता है जोकि गूगल का अपना फ्री ब्लॉग्गिंग की सुविधा देता है.

Go To Telegram Link & Join For Quick Download…

telegram logo

SEO Techniques In Hindi

निष्कर्ष – इस प्रकार ये तो रहा SEO Techniques In Hindi, On-Page SEO, Off-Page SEO, Link Building का एक सम्पूर्ण विश्लेषण जहाँ पर मैंने इसके विषय में लगभग सबकुछ समझाने का प्रयास किया मगर इसके अलावा और भी बहुत कुछ सम्बंधित Terms को मैंने यहां पर Explain नहीं किया क्योंकि उनके बारे में मैंने अलग से विस्तार से समझाया है जिसे आप आसानी से दिए गए लिंक्स पर Click करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

तो अब हम ये अच्छी तरह से समझ चुके हैं कि एसईओ टेक्नोलॉजी क्या हैऔर किस तकनीक पर काम करता है

इससे सम्बंधित लगभग सभी आवश्यक जानकारियाँ मैंने अपने इस Article के जरिए देने का प्रयास किया है।

फिर भी यदि इसके अतिरिक्त कोई जानकारी आपलोगों को चाहिए तो मुझे Comment के द्वारा पूछ सकते हैं या फिर मुझे मेरे ई-मेल और फेसबुक पेज पर भी जुड़कर अपने सवाल पूछ सकते हैं और सुझाव भी दे सकते हैं।

इसे भी अवश्य पढ़ें –

Leave a Comment

Translate »
%d bloggers like this: